Breaking

Email Alert

..

Tuesday, May 8, 2018

Positron










                 Positron


 सन  1932 में एंडरसन  ने इलेक्ट्रॉन  से अत्यधिक  सबंधित  कण की खोज की  जिसे  धन इलेक्ट्रॉन  या पॉज़िट्रान  कहे ते  है  ये कण समस्त  तत्वों का मूल कण है  है  अंतर केवल इतना है की यह कण धनावेशित  होता है  द्रव्यमान  एवं  आवेश  की मात्रा ठीक इलेक्ट्रान   की तुल्य  होती है  जबकि इलेक्ट्रान  ऋणावेशित  होता है  जिसका अस्तित्व बहुत काम समय  तक रहता है  ये किसी परमाणु  के नाभिक द्वारा अवशोषित हो जाते है  इनकी माध्य  आयु एक माइक्रो सेकण्ड   10-⁶  सेकण्ड  के क्रम  की होती है  पॉज़िट्रान के   संयुक्त  द्रव्यमानो  की ऊर्जा दो  𝛾- किरण  फोटानो  जिहने  विदुत  चुंबकीय   क्वांटा   भी कहते है 
                                             ये फोटोन संघात बिंदु  से  बाहर  की ओर  विपरीत दिशाओ में चलते है 






                                          -1e०++1e०2hv

                                              𝛄-किरण  फोटॉन 


   इस प्रक्रिया  से पूर्व एक पॉज़िट्रान  एवं  एक एल्क्ट्रोन  मिलकर  एक उदासीन परमाणु बनते  है  जिसे  पोज़िट्रॉनियम  कहते है  


No comments:

Post a Comment

,

Blog Archive

SEO Score

Seo Score für tech24bit.blogspot.com

Followers